Study tips hindi exam preparation

Study tips in Hindi (परीक्षा की तैयारी कैसे करे): “परीक्षा”…. यह शब्द सुनते ही कई विद्यार्थियों में एक सनसनी फैल जाती है. अब तो परीक्षा का मौसम चल रहा है और विद्यार्थियों में Exam Preparation को लेकर काफी चिंतायें है. तो मैंने सोचा क्यूँ न में आप सभी को Exam Preparation के बारे में कुछ Tips शेयर करूँ जिसे मैंने अपने जीवन में अपनाया है.

No.-1. मैंने पाया की ऐसा कई बार होता है हम बहुत ही अच्छे से अपने परीक्षा की तैयारी करते हैं पर परीक्षा में हम उतना अच्छा नहीं कर पाते और कई गलतियाँ कर बैठते हैं, जिससे हमें बहुत ही दुःख होता है और हमारे आत्मविश्वास में कमी दिखाई देती है. मैं आप लोगों को यह बात बता दूँ की पढाई करना की कला और परीक्षा देने की कला दोनों में बहुत अंतर है.

No.-2. एक Student को दोनों ही पहलुओं में Equally ध्यान देना चाहिए, यदि वह Exam में अपना Best करना चाहता है तो निचे बताये गए कुछ आसान तरीके को यदि वह ठीक तरीके से पालन करे तो मेरा यह 100% दावा है की आपके Score में कम से कम 10% की Improvement जरूर होगी. तो फिर देर किस बात की चलिए शुरू करते हैं Study Kaise Kare Tips in Hindi.

परीक्षा की तैयारी कैसे करे – Study Tips in Hindi

No.-1. मेरा मानना है की हमारे यहाँ परीक्षायें साल भर में केवल 20-30 दिनों ही होते है यदि हम 1 साल (365 दिन) को लेकर चलें तो जाहिर सी बात है की बाकि के दिनों में हम काफी बिंदास और चिंता रहित (Tension Free) रहते हैं.

No.-2. यदि हम इसी बात को दूसरी तरह से सोचें की अगर साल भर में 300+ दिन परीक्षाएं हो तब हमें Exams की कोई डर नहीं होगी, ऐसा इसलिए क्योंकि कोई भी कार्य को यदि हम हमारे स्वाभाविक अभ्यास या दिनचरिया में लगातार करें तब हमें उससे और डर नहीं लगता. और यह बात Exams में भी लागु होती है.

No.-3. दुसरे कारणों भी जिम्मेदार हैं जैसे की हमारी Practice की कमी, एक अच्छी Planning का न होना.

प्रतियोगी परीक्षा में सफलता के उपाय – Exam Preparation Tips in Hindi

No.-1. नियमित Self Test दें: एक नयी अभ्यास की शुरूवात करें, Self-test (आत्म परीक्षण) हर दिन देने की. दिनभर आप जो कुछ भी पढ़ें उसे Short points में अपनी Copy में लिखें. और कुछ निर्धारित प्रश्न तैयार कर उसे बिना देखे लिखने की कोशिश करें. इन सभी Test को जांच के लिए अपने दोस्त या अपने शिक्षकों की सहायता लें.

No.-2. और यदि यह भी मुमकिन न हो तो आप खुद भी अपने Answer Sheet जांच कर सकते हैं. कुछ सप्ताह के बाद आपको नतीजे आना शुरु हो जायेंगे. मेरा यह मानना है की आत्म परीक्षण (Self Introspection) करने से हमें अपने गलतियों का आभास होगा ताकि भविष्य में हम उन गलतियों को न दोहराएँ.

No.-2. परीक्षा के पहले की पढाई पर निर्भर न करें: यह बहुत ही छोटी सी आदत है की हमें पढाई की शुरुवात से ही अपने विष्यों में ध्यान देनी चाहिए न की केवल परीक्षा के पहले. अगर इसी छोटी आदत को कोई छात्र अपने जीवन में अपना ले तो उसे परीक्षा की कोई टेंशन नहीं रहेगा और वह उन दिनों में काफी Relax और शांत होकर परीक्षा लिख सकता है.

No.-3. शांत मस्तिष्क: Research से यह पाया गया है की एक शांत मस्तिष्क 4 गुनी ज्यादा बेहतर काम कर सकता है एक अशांत मस्तिष्क के मुकाबले. और यदि हमारा मस्तिष्क शांत हो तो हमारी गलतियाँ भी कम होगी और हम बहुत ही अच्छी तरह से परीक्षा लिख सकते हैं.

No.-4. परीक्षा के आखिरी कुछ दिन केवल Revision के लिए उपयुक्त हैं: आम तोर से यह पाया गया है की 90% विद्यार्थी परीक्षा के कुछ दिनों पहले ही पढाई की शुरुवात करते हैं. ऐसा करने से उन्हें काफी कम समय में बहुत ज्यादा Course पढना पढता है. इसी कारण परीक्षा के आखिरी महीने में केवल Revision करनी चाहिए. जिससे की हमें अपने विषयों में अच्छी पकड़ हासिल होगी और परिणाम स्वरुप हमारा मन भी शांत होगा परीक्षा के दिनों में.

No.-5. अपने किताब की हर विषयों को अच्छी तरह समझें पढ़ने के वक़्त और यदि समझ में न आये तो अपनी doubt उसी समय जरूर क्लियर करें.

No.-6. अपने विषयों का लगातार अभ्यास करें.

No.-7. हर दिन, प्रत्येक 7 दिनों, 15 दिनों, 30 दिनों में अभ्यास परीक्षा दो.

No.-8. कम से कम 2 पूर्ण परीक्षा Course की समाप्ति में देनी चाहिए.

No.-9. जब भी कोई महत्वपूर्ण जानकारी दिख जाये तो उसे underline करना न भूलें और उसे अपने Note Book में लिख रखें.

No.-10. अपनी Note Book को समय समय पर Update करना न भूलें ऐसा करने से आप को आखिर में Revision करने में आसानी होगी.

No.-11. किसी भी विसम (odd) परिस्तिती को निपटने के लिए हमेसा अपने पास एक Subsidiary Plan तैयार रखें ताकि आपको Exam के टाइम ज्यादा Tension लेनी न पड़े. जैसे की आप क्या करेंगे

No.-12. यदि कुछ Questions आपके Course से बाहर के हैं।

No.-13. यदि प्रसंन पत्र कठिन आ जाये तब।

No.-14. यदि आपको कुछ Question के Answer पता नहीं है।

No.-15. यदि आप किसी प्रश्न में ज्यादा समय व्यतीत कर दें तब।

No.-16. यदि आप हड़बड़ी में Calculation mistake कर दें तब।

No.-17. यदि आप की तब्यात परीक्षा के पहले थोडा ख़राब हो जाये तब।

No.-18. यदि आपको परीक्षा का माहोल अच्छा न लगे तब।

No.-19. यदि आपको किसी अच्छी से तयारी की गयी question की कुछ points याद न आये तब।

No.-20. यदि आपको किसी question पर doubt हो जाये तब।

No.-21. यदि आप यह decide न कर पाएं की कोनसी question को पहले आरम्भ करें।

No.-22. किस section में कितना समय व्यतीत करें।

No.-23. और ऐसे ही कई सवाल ……..

No.-24. यदि आप पहले से ही इन सब परिस्तितियों से वाकिब रहें तो आप इन सब मौकों पर धर्य से मुकाबला कर सकते हैं. दूसरी बात है की यदि आप Mentally Prepared हो तो आप सभी मुश्किलों को आसानी से face कर सकते हैं.

No.-1.  लिखने की कला: (Descriptive Exams)

No.-1. परीक्षा में केवल ज्यादा पढना ही सब कुछ नहीं है यदि आपकी handwriting बहुत ही सुन्दर है तथा आपको अपने उत्तर बड़े ही ठीक ढंग से पेश करनी आती है तो आप के लिए एक प्लस पॉइंट है. इस कला को the Art of Presentation कहा जाता है. ऐसा करने से आप के answer बाकियों से अलग हो जाते है और यह चीज़ परीक्षक का ध्यान केन्द्रित करता है.

No.-2. इस कला को कोई भी सिख सकता है पर इसके लिए उसे बहुत ही अभ्यास और थोड़ी creativity उत्पन्न करनी पड़ेगी. Creativity से आप बहुत ही अच्छा और to the point answer लिख सकते हैं.

No.-2.  Biological Clock

No.-1. हमेशा घर में अपने परीक्षा ठीक उसी वक़्त दो जिस वक़्त की आप Examination सेंटर में देने वाले हो. ऐसा करने से एक बहुत ही बड़ा फ़ायदा है जो की है की इससे आप की शरीर की नेचुरल क्लॉक उसी समय में Synchronize हो जाएगी और ऐसा होने से इसे परीक्षा के दिन में तैयार होने की जरुरत ही नहीं पड़ेगी और यह अपनी full Potential में काम करने लग जाएगी.

No.-3.  Speed (गति) and Accuracy (सठीकता): (Competitive Exams)

No.-1. Competitive Exams में ये दो चीज़ें बहुत ही ज्यादा माइने रखती हैं. ऐसा इसलिए क्योंकि परीक्षा में केवल समय ही कम पड़ जाता है.

No.-2. उदहारण के तोर पर कोई भी Student को ज्यादा समय मिले तो वह सारे question की answer दे सकता है. पर ऐसा मुमकिन नहीं है क्योंकि समय की भी एक सीमा है. परीक्षा में सफल वही होते हैं जिनकी Speed और Accuracy (सठीकता) में अच्छी पकड़ हो. और यह दोनों ही चीज़े केवल लगातार अभ्यास से ही संभव है.

No.-4.  परीक्षा से दोस्ती (Friendship)

No.-1. यदि हर दिन एक परीक्षा की आदत हम पहले से ही बना लें तब हमें परीक्षा के दिन भी हमें टेंशन नहीं होगी क्योंकि हम परीक्षा दे दे कर इतना अभ्यस्त हो गए होंगे की ये परीक्षा भी हमें एक आम परीक्षा की तरह प्रतीत होगी.

No.-2. जैसे हमें अपने दोस्त से मिलने पर डर नहीं लगता क्योंकि हम उससे रोजाना मिलते हैं वैसे ही हमारे मन में भी कोई डर नहीं रहेगा परीक्षा के दिनों में.

No.-5.  Daily Routine

No.-1. यदि आपके जीवन में आप एक स्थायी दिन्चरिया को पालन करें तब आप सभी चीज़ों को समय दे सकते हैं और आप अपने जिंदगी को ओर भी बेहतर तरीके से enjoy कर सकते हैं.

No.-2. आप ठीक समय में पढाई, खेलकूद, दोस्तों के साथ बातें , परिवार के साथ समय बिताना इत्यादि को अच्छी तरह से अनुभव कर सकते हैं.

No.-6.  काम में निरंतरता

No.-1. निरंतरता किसी भी काम को करने में बहुत जरुरी है. यह निरंतरता ही है जो की हमें असंभव प्रतीत होने वाले कार्य करने में मदद करते हैं.

No.-2. उदहारण के तोर में यदि कोई student एक सप्ताह में पहले 3 दिन बहुत मेहनत कर पढाई करता है और बाकि के दिनों में मस्ती करता है, वहीँ एक दूसरा student लगातार सप्ताह के सभी दिन निरंतर समान मेहनत करता है. Research से पाया गया है की दूसरा Student परीक्षा में ज्यादा अच्छा प्रदर्शन करता है, इसका सिर्फ और सिर्फ एक ही कारण है जो की है निरंतरता।

No.-7.  Sleep (नींद) and Energy (ऊर्जा) Management (प्रबंधन)

No.-1. एक व्यक्ति को दिन में 6 घंटे की निद्रा आवश्यकता होती है. एक दिन में 24 घंटे होते हैं तो यह बात साफ़ है की यदि हम सोने को 6 घंटे प्रदान करें तो हमारे पास 18 घंटे और बच जाते हैं और जिसका इस्तमाल हम पुरे दिनभर में ठीक से करें तो हमारे पास बहुत सारा समय बाकि रह जायेगा अपने महत्वपूर्ण काम करने के लिए.

No.-2. ज्यादा या कम सोने से यह हमें Energy Level में भी प्रभाव डालता है जिससे हमें थकावट हो सकती है. इसी कारण हमें सोने के लिए उचित समय निर्धारित तय करनी पड़ेगी ताकि हम अपना पूरा Energy सठिक तरीके से अपने जीवन में इस्तमाल कर सकें.

No.-8.  Smart Diet (आहार)

No.-1. हमारे खान पान का भी परीक्षा में काफी असर पड़ता है इसीलिए हमें इस बात का भी ख्याल रखना चाहिए. बड़े बड़े डॉक्टरों का कहना है की सात्विक भोजन का सेवन करना बहुत ही लाभदायक है.

No.-2. हमें अपने खान पान को Healthy और Balanced रखना चाहिए ताकि इससे हमारी निद्रा और शक्ति में अस्थिरता नहीं होनी चाहिए. ऐसा होने से पूरा दिन हमारे शरीर में स्पूर्ति होगी जिससे हमें ज्यादा काम करने की उत्सुकता होगी.

No.-9.  वर्तमान में जियो

No.-1. ऐसा होता है जब भी हम पढाई करने के लिए बैठते हैं तब हमारे दिमाग में movies, gaane, Games जैसे कई विचार आते हैं. जब हम अपने परिवार के साथ होते हैं तब हमें अपने मित्रों की चिंता होती है, और जब हम अपने दोस्तों के साथ होते हैं तब हम अपने school की Homework की चिंता करते हैं.

No.-2. ऐसा इसलिए होते है क्योंकि हमारा मन स्थिर नहीं होता. मन को स्थिर करने के लिए हमें योग की सहायता लेनी चाहिए, क्योंकि योग और अभ्यास से ही हम अपने मन के ऊपर स्थिरता प्राप्त कर सकते हैं जिससे हम मन को महत्वपूर्ण कार्य में नियोजित कर सकते हैं.

परीक्षायें और कठिनायें जीवन के अंग

No.-1. हमेसा हमें परीक्षा का मुख्य उद्देश्य को समझना चाहिए, परीक्षा एक मापदंड है जिससे की हम अपनी तैयारी को परख सकते हैं. यहाँ एक ध्यान देने वाली बात यह है की कोई भी परीक्षा आखिरी परीक्षा नहीं होती.

No.-2. जीवन में हमें ऐसे अनेकों परीक्षायें देनी होगी, यदि हम एक परीक्षा की नतीजे से मायुस हो जाएँ तो हमें परीक्षा से डर और घृणा लगनी आरम्भ हो जाएगी जो की हमारे लिए बिलकुल भी अच्छी नहीं है. ये सोचिये की परीक्षाएं और कठिनायें हमारे जीवन का हिस्सा है और इसी से ही हमारे व्यक्तित्व की असली पहचान होती है.

No.-3. आकिर में आप लोगों से मेरी यह गुजारिस है की आप बस अपनी और से कोई कसर न छोड़ें मेहनत करने में और हमेसा याद रखो की “जितना कठिन संघर्ष होगा उतनी ही शानदार होगी उसकी जीत”.

No.-4. मैंने अपने अब तक की ज़िन्दगी में एक बात तो सिखा है की

No.-5. हमेशा याद रखिये की यह ज़िन्दगी बहुत छोटी सी है जीने के लिए, इसे फालतू की चीज़ों में व्यर्थ न करें.

एग्जाम देने से पहले क्या करना चाहिए?

No.-1. एग्जाम देने से पहले आपको अपने मन को पूरा शांत रखना चाहिए। क्यूँकि अब वो समय नहीं रहा की आप कुछ समय में बहुत कुछ पढ़ सकते हो। अब आपने जितना पढ़ा है उसी के अनुसार ही आपको आगे का exam देना है। इसलिए मन के शांति के साथ ही आपको परीक्षा देना है।

बिना पढ़े कैसे पास हो?

No.-1. क्या आप भी ये चाहते हो की बिना पढ़े ही पास हो जाओ, तो भाई साहब ये होने वाला नहीं है क्यूँकि क़िस्मत के भरोसे रहोगे तो आपको कुछ नहीं मिलेगा। इससे बेहतर होगा की आप जितना भी पढ़ो पूरे मन तन से पढ़ो। ऐसा करने पर आ आसानी से पास हो सकते हो।

एग्जाम के 1 दिन पहले कैसे पढ़े?

No.-1. एग्जाम के 1 दिन पहले आपको कोई अच्छी सी फ़िल्म देखनी चाहिए जो की किसी के जीवनी के ऊपर हो, उनका संघर्ष की कहानी को देखकर मन में काफ़ी उम्मीद पैदा होती है साथ में साहस भी बढ़ता है जिससे आप आसानी से बिना किसी टेन्शन के परीक्षा दे सकते हैं।

आज आपने क्या सीखा

No.-1. आशा करता हूँ के आपको Study Kaise Kare Tips in Hindi (परीक्षा की तैयारी कैसे करे) के बारे में बहुत कुछ जानकारी मिला होगा.

No.-2. मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने पाठक का हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को Study Tips in Hindi को ले कर किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पुच सकते हैं. मैं जरुर उन Doubt का हल निकलने की कोशिश करूँगा और अपना comment लिखना न भूलें.

No.-1. Download 15000 One Liner Question Answers PDF

No.-2. Free Download 25000 MCQ Question Answers PDF

No.-3. Complete Static GK with Video MCQ Quiz PDF Download

No.-4. Download 1800+ Exam Wise Mock Test PDF

No.-5. Exam Wise Complete PDF Notes According Syllabus

No.-6. Last One Year Current Affairs PDF Download

No.-7. Join Our Whatsapp Group

No.-8. Join Our Telegram Group

Leave a Comment

Your email address will not be published.

Scroll to Top