Gopal Krishna Gokhale in Hindi

0
7
Gopal Krishna Gokhale in Hindi
Gopal Krishna Gokhale in Hindi

Gopal Krishna Gokhale in Hindi:- It is observed that in almost all types of competitive exams, questions based on About Gopal Krishna Gokhale in Hindi are asked. So in this article, we have compiled Information about Gopal Krishna Gokhale in Hindi that would be very useful for all types of competitive exams like UPSC, PSC, SSC, CDS and others.

These Slogans said by Gopal Krishna Gokhale in Hindi are from the topic of Gopal Krishna Gokhale in Hindi Language. Questions are very useful for competitive exams and General Knowledge.

We are sure that you will be finding the comprehensive coverage of questions on various topics, very useful. In this Post we share Essay on Gopal Krishna Gokhale in Hindi, Biography of Gopal Krishna Gokhale in Hindi and Information about Gopal Krishna Gokhale in Hindi Language.

Gopal Krishna Gokhale in Hindi

No.-1. नाम : गोपाल कृष्ण गोखले

No.-2. जन्म : 9 मई 1966. कोतलूक (जि. रत्नागिरी, महाराष्ट्र).

No.-3. पिता : कृष्णराव गोखले.

No.-4. माता : सत्यभामा गोखले.

No.-5. शिक्षा : 1884 मे बम्बई एलफिन्स्टन कॉलेज से B.A. (गणित) की परिक्षा उत्तीर्ण.

No.-6. पत्नी : सावित्रीबाई.

प्रमुख बिंदु:

No.-1. गोपाल कृष्ण गोखले भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान एक भारतीय उदारवादी राजनीतिक नेता एवं समाज सुधारक थे।

No.-2. गोपाल कृष्ण गोखले का जन्म 9 मई, 1866 को महाराष्ट्र (तब बंबई प्रेसीडेंसी का हिस्सा) के रत्नागिरी ज़िले में हुआ था।

No.-3. गोखले ने वर्ष 1884 में मुंबई के एल्फिंस्टन कॉलेज से स्नातक किया। अंग्रेजी शिक्षा ने उन्हें पश्चिमी राजनीतिक विचारों से अवगत कराया परिणामतः वे ‘जॉन स्टुअर्ट मिल’ और एडमंड बर्क जैसे सिद्धांतकारों के महान प्रशंसक बन गए।

About Gopal Krishna Gokhale in Hindi

भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में भूमिका:

No.-1. गोखले वर्ष 1889 में भारतीय राष्ट्रीय काॅन्ग्रेस के सदस्य बने और एक प्रमुख समाज सुधारक महादेव गोविंद रानाडे के प्रभाव में आए।

No.-2. वर्ष 1905 में भारतीय राष्ट्रीय काॅन्ग्रेस के बनारस अधिवेशन के लिये गोखले को अध्यक्ष पद के लिये चुना गया था यह वह समय था जब लाला लाजपत राय और बाल गंगाधर तिलक के नेतृत्व में ‘नरमपंथियों’ और ‘अतिवादियों’ के समूह के बीच मतभेद पैदा हो गए। और वर्ष 1907 में कान्ग्रेस सूरत अधिवेशन में दोनों गुट अलग हो गए।

No.-3. वर्ष 1899-1902 के दौरान वह बॉम्बे विधान परिषद के सदस्य थे और वर्ष 1902-1915 तक ‘इम्पीरियल लेजिस्लेटिव काउंसिल’ में कार्य किया।

No.-4. गोखले ने वर्ष 1909 के ‘मार्ले-मिंटो सुधार’ को तैयार करने में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई।

No.-5. एक उदार राष्ट्रवादी के रूप में वे महात्मा गांधी के राजनीतिक गुरु थे। महात्मा गांधी ने गोपाल कृष्ण गोखले पर गुजराती भाषा में एक पुस्तक ‘धर्मात्मा गोखले’ लिखी।

Information about Gopal Krishna Gokhale in Hindi

शिक्षा एवं समाज सुधारक के रूप में:

No.-1. उन्होंने भारतीय शिक्षा के विस्तार के लिये वर्ष 1905 में ‘सर्वेंट्स ऑफ़ इंडिया सोसाइटी’ की स्थापना की।

No.-2. वह महादेव गोविंद रानाडे द्वारा शुरू की गई ‘सार्वजनिक सभा पत्रिका’ से भी जुड़े थे।

No.-3. वर्ष 1908 में गोखले ने ‘रानाडे इंस्टीट्यूट ऑफ इकोनॉमिक्स’ की स्थापना की।

No.-4. उन्होंने अंग्रेजी साप्ताहिक समाचार पत्र ‘द हितवाद’ शुरू किया।

No.-5. गोखले की विचारधारा सामाजिक सशक्तीकरण, शिक्षा के विस्तार, भारतीय स्वतंत्रता संघर्ष के लिये प्रतिक्रियावादी या क्रांतिकारी तरीकों के इस्तेमाल को खारिज़ करने पर आधारित थी।

No.-6. गोपाल कृष्ण गोखले (Gopal Krishna Gokhale) भारत के एक स्वतंत्रता सेनानी, समाजसेवी, विचारक एवं सुधारक थे

No.-7. गोपाल कृष्ण गोखले का जन्म 9 मई वर्ष 1866 ई. को महाराष्‍ट्र के कोल्‍हापुर नामक ग्राम में हुआ था

No.-8. इनके पिता का नाम कृष्‍ण राव गोखले तथा माता का नाम वालुबाई गोखले था

No.-9. इनके गुरू का नाम गोविंद रानाडे था जिन्‍हें महाराष्‍ट्र का सुकरात कहा जाता था

No.-10. गोपाल कृष्ण गोखले जी वर्ष 1884 में एल्‍फिनस्‍टोन कॉलेज से स्‍नातक की पढाई पूरी की थी

No.-11. गोपाल कृष्ण गोखले जी ने पहली वार वर्ष 1880 में सावित्री बाई के साथ विवाह किया जिनका देहान्‍त हो गया था

No.-12. गोपाल कृष्ण गोखले जी ने वर्ष 1905 में भारत सेवक समाज (सरवेंट्स ऑफ़ इंडिया सोसाइटी) की स्थापना की थी

No.-13. लोकमान्‍य तिलक ने गोखले को ‘भारत का हीरा’, ‘महाराष्ट्र का लाल’ और ‘कार्यकर्ताओं का राजा’ कहकर उनकी सराहना की

No.-14. गोपाल कृष्ण गोखले जी ने वर्ष 1887 में दूसरी शादी कर ली थी

No.-15. गोपाल कृष्ण गोखले जी पहली बार वर्ष 1888 में इलाहाबाद में हुए कांग्रेस के अधिवेशन में राष्‍ट्रीय काग्रेस के सदस्‍य बने थे

Slogans said by Gopal Krishna Gokhale in Hindi

Join Our Telegram Channel For PDF Files

Note:- यदि आप SSC Exams में सफलता पाना चाहते है तो यह SSC के पुराने पेपरों का संग्रह निश्चित रूप में आपके बहुत काम आने वाला है

No.-1. ALL SSC CGL Previous Paper PDF Download

No.-2. SSC CPO Previous Paper PDF Download

No.-3. MTS Previous Paper PDF Download

No.-4. SSC JE Previous Paper PDF Download

No.-5. SSC CHSL Previous Paper PDF Download

No.-6. GD Constable Previous Paper PDF Download

No.-7. SSC Stenographer Previous Paper PDF Download

इनको भी जरुर Download करे:-

No.-1. Delhi High Court JJA Previous Year Solved Question Paper Download

No.-2. Jharkhand SI Previous year Solved Question Paper Download

No.-3. IB ACIO Previous Year Question Paper Free Download

No.-4. SSC Selection Post Question Paper Free Download

No.-5. DDA ASO Previous Year Question Paper Free Download

No.-6. BSNL JAO Previous Question Paper Free Download

No.-7. Navodaya Vidyalaya Previous Question Papers Class 6 PDF Download

No.-8. Navodaya Entrance Exam Model Papers for 9th PDF Free Download

No.-9. AIIMS Previous Year Question Paper Free Download

No.-10. LIC AAO Previous Year Question Paper Free Download

No.-11. UPSC CDS Previous Year Paper Free Download

Note:- यदि आप Teacher Eligibility Test में सफलता पाना चाहते है तो यह TET के पुराने पेपरों का संग्रह निश्चित रूप में आपके बहुत काम आने वाला है

No.-1. RTET Previous Year Solved Question Paper Download

No.-2. CTET Previous Year Solved Question Paper Download

No.-3. HTET Previous Year Solved Question Paper Download

No.-4. UPTET Previous Year Solved Question Paper Download

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.