भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची / National Symbols of India in Hindi PDF

0
8650
भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची pdf

मै आपका sscnotespdf.com पर स्वागत करता हू. आप सभी जानते है की आज के दिन प्रतियोगिता परीक्षाओ में competition लगातार बढ़ता जा रहा है. आप सभी जानते है की आजकल जो परिक्षाये आयोजित हुई है उनमे कम से कम एक प्रश्न सीधे सीधे राजकीय प्रतीक PDF, भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची PDF, National Symbols of India in Hindi पर पूछा जा रहा है इसलिए यह महत्वपूर्ण हो जाता है की आप भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची in English के पुरे टोपिक को अच्छे से कवर कर ले ताकि कोई भी घुमा फिरा के प्रश्न पूछा जाये तो आप आसानी से उसका जवाब देने में सक्षम हो.

अब हम राजकीय प्रतीक PDF, भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची PDF से सम्बन्धित सम्पूर्ण जानकारी को निचे दिए गये बिन्दुओ के माध्यम से पढ़ते है.

ऐसा कोई competitive Exam नही है जिसमे सामान्य ज्ञान से प्रश्न उत्तर न पूछे जाते हो. इस खण्ड  में आपको भारत की राष्ट्री य पहचान के प्रतीकों का परिचय दिया गया है। यह प्रतीक भारतीय पहचान और विरासत का मूलभूत हिस्साप हैं। विश्वर भर में बसे विविध पृष्ठकभूमियों के भारतीय इन राष्ट्री य प्रतीकों पर गर्व करते हैं क्योंतकि वे प्रत्येसक भारतीय के हृदय में गौरव और देश भक्ति की भावना का संचार करते हैं। भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची pdf.

Join Our Telegram Channel For PDF Files

भारत के राष्ट्रीय प्रतीकों की सूची PDF Download

भारत के राष्ट्रीय प्रतीक देश की छवि का प्रतिबिंब होते हैं और उन्हें बहुत ध्यान से चुना जाता है। राष्ट्रीय पशु बाघ शक्ति का प्रतीक है। राष्ट्रीय फूल कमल पवित्रता का प्रतीक है। राष्ट्रीय वृक्ष बरगद अमरता का प्रतीक है।

राष्ट्रीय पक्षी मोर शिष्टता का प्रतीक है और राष्ट्रीय फल आम भारत की ट्रॅापिकल जलवायु का प्रतीक है। हमारा राष्ट्रीय गान और राष्ट्रीय गीत स्वतंत्रता संग्राम के दौरान प्रेरणा का स्रोत रहे हैं। भारत के राष्ट्रीय प्रतीक में एकदूसरे से पीठ के बल जुड़े चार शेर शक्ति, साहस, गर्व और विश्वास का प्रतीक हैं। भारत का राष्ट्रीय खेल चुने जाने के समय हाॅकी अपने चरम पर था।

यहां पर भारत के प्रमुख राष्ट्रीय प्रतीक व चिन्ह के नाम दिए गए है। विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में भारत के प्रमुख राष्ट्रीय प्रतीक व चिन्ह के आधार पर प्रश्न पूछे जाते है, इसलिए यह पोस्ट आपकी सभी प्रकार की प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे:- एसएससी, बैंक, शिक्षक, टीईटी, कैट, यूपीएससी, अन्य सरकारी परीक्षाओं की तैयारी के लिए भी अत्यंत महत्वपूर्ण है। आइये जानते है भारत के प्रमुख राष्ट्रीय चिन्ह व प्रतीकों के बारे में:-

National Signs and Symbols of India in Hindi

राष्‍ट्रीय पहचान के प्रतीक प्रतीक व चिन्ह का नाम
भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा
भारत का राष्ट्रीय गान जन-गन-मन
भारत का राष्ट्रीय गीत वन्दे मातरम्
भारत का राष्ट्रीय चिन्ह अशोक स्तम्भ
भारत का राष्ट्रीय पंचांग शक संवत
भारत का राष्ट्रीय वाक्य सत्यमेव जयते
भारत की राष्ट्रीयता भारतीयता
भारत की राष्ट्र भाषा हिंदी
भारत की राष्ट्रीय लिपि देव नागरी
भारत का राष्ट्रीय ध्वज गीत हिंद देश का प्यारा झंडा
भारत का राष्ट्रीय नारा श्रमेव जयते
भारत के  राष्ट्र पिता महात्मा गाँधी
भारत की राष्ट्रीय  विदेश नीति गुट निरपेक्ष
भारत का राष्ट्रीय पुरस्कार भारत रत्न
राष्ट्रीय सूचना पत्र श्वेत पत्र
भारत का राष्ट्रीय वृक्ष बरगद
भारत की राष्ट्रीय मुद्रा रूपया (₹)
भारत की राष्ट्रीय  नदी गंगा
भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर
भारत का राष्ट्रीय पशु बाघ
भारत का राष्ट्रीय फूल कमल
भारत का राष्ट्रीय फल आम
भारत की राष्ट्रीय योजना पञ्च वर्षीय योजना
भारत का राष्ट्रीय खेल हॉकी
भारत की राष्ट्रीय मिठाई जलेबी
भारत के राष्ट्रीय पर्व 26 जनवरी (गणतंत्र दिवस), 15 अगस्त (स्वतंत्रता दिवस), 2 अक्तूबर (गाँधी जयंती)
भारत का राष्ट्रीय पकवान खिचड़ी

 

भारत का राष्ट्रीय गान PDF ( National Anthem PDF )

No.-1. नोबेल पुरस्कार विजेता कवि रवीन्द्रनाथ टैगोर के “जन गण मन” के नाम से प्रख्यात शब्दों और संगीत की रचना भारत का राष्ट्रगान है।

No.-2. संविधान सभा ने जन-गण-मन को भारत के राष्ट्रगान के रूप में 24 जनवरी, 1950 को अपनाया था।

No.-3. राष्ट्रगान की कुल गायन अवधि 52 सैकेण्ड है।

No.-4. राष्ट्रीय गान सबसे पहले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोलकाता ( कलकत्ता ) अधिवेशन में 27 दिसम्बर, 1911 को गाया गया था।

No.-5. राष्ट्रीय गान के मूल रूप में 5 पद हैं, परन्तु राष्ट्रीय गान के रूप में इसका प्रथम पद ही मान्य है।

जन-गण-मन अधिनायक, जय हे,

भारत-भाग्य-विधाता,

पंजाब-सिंध-गुजरात-मराठा

द्राविड़-उत्कल बंग,

विन्ध्य-हिमाचल-यमुना-गंगा,

उच्छल-जलधि-तरंग,

तव शुभ नामे जागे,

तव शुभ आशिष माँगे

गाहे तब जय-गाथा

जन-गण-मंगलदायक जय हे,

भारत-भाग्य विधाता

जय हे, जय हे, जय हे,

जय जय जय, जय हे |

भारत का राष्ट्रीय गीत PDF ( National Song PDF )

No.-1. श्री बंकिमचन्द्र चटर्जी द्वारा 1882 में लिखित उपन्यास आनंदमठ से ली गई कविता “वन्दे मातरम्” को 24 जनवरी, 1950 में राष्ट्रीय गीत का दर्जा प्रदान किया गया।

No.-2. राष्ट्रीय गीत को सर्वप्रथम 1896 ई. में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में गाया गया था।

No.-3. संस्कृत में रचित राष्ट्रीय गीत स्वतंत्रता संग्राम की लड़ाई में प्रेरणा का स्रोत था इसका पहला अंतरा इस प्रकार है :-

वंदे मातरम् वंदे मातरम्।

सुजलाम् , सुफलाम् , मलयज शीतलाम् ,

शस्यश्यामलाम् , मातरम्।

वंदे मातरम्।

शुभ्रज्योत्सनाम् पुलकितयामिनीम् ,

फुल्लकुसुमित द्रुमदल शोभिनीम् ,

सुहासिनीम् सुमधुर भाषिणीम् ,

सुखदाम् वरदाम् , मातरम्।

वंदे मातरम् वंदे मातरम्।।

भारत का राजकीय प्रतीक PDF ( National Symbol PDF )

No.-1. भारत का राजचिह्न सारनाथ स्थित सम्राट अशोक के सिंह स्तम्भ की अनुकृति है, जो सारनाथ के संग्रहालय में सुरक्षित है।

No.-2. मूल स्तम्भ में शीर्ष पर चार सिंह हैं जो एक-दूसरे की ओर पीठ किये हुए हैं, जिसमें से केवल सिंह ही दिखाई देते हैं।

No.-3. इसके नीचे घंटे के आकार के पदम के ऊपर एक चित्रवल्लरी में एक हाथी, चौकड़ी भरता एक घोड़ा, एक सांड तथा एक सिंह की उभरी हुई मूर्तियाँ है।

No.-4. इसके बीच-बीच में चक्र बने हुए हैं।

No.-5. एक ही पत्थर को काट कर बनाये गए इस सिंह स्तम्भ के ऊपर “धर्मचक्र” रखा हुआ है।

No.-6. भारत सरकार ने यह चिह्न 26 जनवरी 1950 को अपनाया। इसमें केवल तीन सिंह दिखाई पड़ते हैं, चौथा दिखाई नहीं देता है।

No.-7. पट्टी के मध्य में उभरी हुई नक्काशी में चक्र है, जिसके दाईं ओर एक सांड और बाईं ओर एक घोड़ा है।

No.-8. फलक के नीचे मुण्डकोपनिषद का सूत्र ‘सत्यमेव जयते‘ देवनागरी लिपि में अंकित है, जिसका अर्थ है – ‘सत्य की ही विजय होती है।’

भारत का राष्ट्रीय पंचांग PDF ( National Calender PDF )

No.-1. राष्ट्रीय कैलेन्डर शक संवत पर आधारित है, 78 ई. में प्रारम्भ हुए शक संवत् का प्रथम माह चैत्र होता है।

No.-2. यह निम्नलिखित सरकारी प्रयोजनों के लिए अपनाया गया है।

  1. भारत का राजपत्र
  2. आकाशवाणी द्वारा समाचार प्रसारण
  3. भारत सरकार द्वारा जारी कैलेन्डर और
  4. लोक सदस्यों को सम्बोधित सरकारी सूचनाएं

No.-3. राष्ट्रीय कैलेन्डर ग्रेगोरियन कैलेन्डर की तिथियों से स्थायी रूप में मिलती-जुलती हैं। No.-4. इसमें एक वर्ष 365 दिन का होता है।

No.-5. सामान्यता चैत्र प्रथमा 22 मार्च को होता है तथा लीप वर्ष में 21 मार्च को होता है। No.-6. भारतीय संविधान ने इसे 22 मार्च, 1957 को राष्ट्रीय पंचांग के रूप में ग्रहण किया।

Join Our Telegram Channel For PDF Files

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.